युनफू सिटी

ऑयली स्किन से हैं परेशान तो करें बस ये 5 काम, एक सप्ताह में पाएं खूबसूरत सा चेहरा

फ़ॉन्ट आकार+ लेखक:दिल बहलाने वाला जाल स्रोत:बाओशान जिला 2022-10-06 11:05:33 मैं टिप्पणी करना चाहता हूँ(0)

ऑयलीस्किनसेहैंपरेशानतोकरेंबसये5कामएकसप्ताहमेंपाएंखूबसूरतसाचेहराCommonwealth Games 2022 : नीरज चोपड़ा की तगड़ी तैयारी, मेडल के लिए जीतोड़ मेहनत******Highlightsकॉमनवेल्थ गेम्स 2022 इस साल 28 जुलाई से शुरू होने जा रहे हैं। राष्ट्रमंडल खेल इंग्लैंड के बर्मिंघम में होने हैं। इस बीच भारतीय खिलाड़ी भी इस बार पदक जीतने की उम्मीद लिए इंग्लैंड रवाना हो चुके हैं। भारत के खिलाड़ियों ने पिछले कुछ साल में जिस तरह का प्रदर्शन किया है, उससे उम्मीद है कि भारत के हाथ इस बार अच्छी खासी संख्या में मेडल आएंगे। भारत के जिन खिलाड़ियों से इस साल पदक जीतने की उम्मीद है, उसमें एक नाम नीरज चोपड़ा का भी है। नीरज चोपड़ा ने भारत के लिए ओलंपिक में पदक जीता था, इससे उम्मीदें और भी बढ़ गई हैं। इस बीच नीरज चोपड़ा लगातार अपनी तैयारी में जुटे हुए हैं और उन चीजों से दूरी बनाए हुए हैं, जिससे उनका खेल या फिर सेहत प्रभावित हो सकती है।भारत के स्टार भाला फेंक खिलाड़ी और ओलंपिक चैंपियन नीरज चोपड़ा अपनी फिटनेस और ट्रेनिंग को लेकर काफी प्रतिबद्ध रहत हैं। नीरज चोपड़ा को बकलावा (तुर्की की एक प्रकार की मिठाई) काफी पसंद है, लेकिन इसके बावजूद उन्होंने इससे दूरी बना रखी है। नीरज चोपड़ा ने कहा कि उन्हें बकलावा और मीठा पसंद है, लेकिन वह अपनी फिटनेस और ट्रेनिंग से कोई समझौता नहीं करते, इसलिए पसंद होने के बावजूद इन चीजों से दूरी बनाकर रखते हैं। टोक्यो ओलंपिक चैंपियन नीरज चोपड़ा ने आनलाइन प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि मुझे बकलावा और मीठा काफी पसंद है, लेकिन जब भी ये चीजें मेरे सामने आती हैं तो मैं मुंह फेर लेता हूं। ये चीजें सिर्फ कुछ देर का ही मजा देती हैं। खिलाड़ियों के लिए फिटनेस और ट्रेनिंग काफी मायने रखती है। या तो आप जीभ का मजा ले सकते हैं या फिर ट्रेनिंग का फायदा उठा सकते हैं। अगर मैं मीठा खाता हूं तो ट्रेनिंग के दौरान महसूस हो जाता है कि कुछ कमी पड़ रही है, इसलिए मैं इन चीजों से दूर रहता हूं।ट्रेनिंग और प्रतियोगिता के दौरान के खान-पान के बारे में नीरज चोपड़ा ने कहा कि इन दोनों ही समय के उनके खाने में अंतर होता है। चोपड़ा ने कहा कि ट्रेनिंग और सामान्य समय के खान-पान में काफी अंतर होता है। जब हम ट्रेनिंग कर रहे होते हैं तो प्रोटीन युक्त भोजन अधिक खाते हैं जबकि प्रतियोगिता के आसपास हम कार्बोहाइड्रेट युक्त भोजन पर अधिक ध्यान देते हैं, क्योंकि उस समय ऊर्जा की अधिक जरूरत होती है। प्रतियोगिता से पहले की रात क्या करते हैं, इस बारे में पूछे जाने पर चोपड़ा ने कहा कि मैं प्रतियोगिता से पहले गाने सुनना पसंद करता हूं और इस दौरान प्रतियोगिता के बारे में सोचता हूं। मैं भाला फेंक से जुड़े वीडियो भी देखना पसंद करता हूं, इससे मुझे एकाग्रता बनाए रखने में मदद मिलती है। अपने पसंदीदा खाने के अलावा ट्रेनिंग के कारण चोपड़ा कई बार रिश्तेदारों और मित्रों के साथ त्योहार या फिर विवाह समारोह का हिस्सा नहीं बन पाते, लेकिन उन्हें इसका बिलकुल भी मलाल नहीं है। उन्होंने कहा कि ट्रेनिंग और प्रतियोगिता के दौरान कई बार हम परिवार और मित्रों के साथ त्योहार नहीं मना पाते या विवाह समारोह में हिस्सा नहीं ले पाते लेकिन मुझे इन सब चीजों का बिलकुल भी मलाल नहीं है। मैंने कभी महसूस नहीं किया कि मुझे कुछ त्यागना पड़ रहा है। सच कहूं तो मैं इस बारे में कभी सोचता ही नहींनीरज चोपड़ा बचपन में वॉलीबॉल, कबड्डी और क्रिकेट जैसे खेल खेलते थे, लेकिन उन्होंने कभी भाला फेंक अलावा किसी अन्य खेल में करियर बनाने के बारे में नहीं सोचा। ओलंपिक चैंपियन चोपड़ा ने कहा कि जब मैं स्कूल में पढ़ता था तो मजे के लिए वॉलीबॉल खेलता था। मैं कबड्डी भी खेला हूं और सभी की तरह मैंने क्रिकेट भी खेला है। पेशेवर तौर पर हालांकि मैंने भाला फेंक के अलावा कोई अन्य खेल नहीं खेला। जब मैं स्टेडियम गया तो मुझे भाला फेंक ही पसंद आया। चोपड़ा ने साथ ही कहा कि वह अपेक्षाओं का दबाव महसूस नहीं करते और सिर्फ अपने खेल पर ध्यान देते हैं। उन्होंने कहा कि स्टेडियम में हजारों लोग आपकी हौसलाअफजाई करते हैं और तालियां बजाकर आपका मनोबल बढ़ाते हैं। लेकिन मैं जब भाला लेकर खड़ा होता हूं तो मेरे ऊपर इन चीजों का असर नहीं पड़ता। मेरा ध्यान सिर्फ अपने लक्ष्य पर होता है। यही मेरी मानसिकता रहती है। लोग क्या कर रहे हैं इससे मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता।नीरज चोपड़ा ने कहा कि वह ट्रेनिंग के इतर या रविवार को छुट्टी वाले दिन बास्केटबॉल, वॉलीबॉल और टेबल टेनिस जैसे खेल खेलना पसंद करते हैं। उन्होंने कहा कि रिलेक्स करने के लिए छुट्टी वाले दिन या रविवार को मैं बास्केटबॉल, टेबल टेनिस और वॉलीबॉल खेलना पसंद करता हूं। इससे मानसिक रूप से आराम मिलता है और समय का भी पता नहीं चलता। कोविड महामारी के कारण जब सब कुछ बंद था तो इससे काफी मदद मिली। मुझे फोन पर अधिक समय बिताना या अधिक टीवी देखना पसंद नहीं है। मैं इसकी जगह मैदान पर उतरने को प्राथमिकता देता हूं, क्योंकि इससे आपके कौशल में सुधार होता है। चोपड़ा ने कहा कि उनके चाचा ने हमेशा से ही उनका काफी समर्थन किया। हमारा परिवार संयुक्त परिवार है और मेरे सबसे छोटे चाचा ने हमेशा मेरा काफी समर्थन किया। उनका खेलों के प्रति काफी जुनून रहा है। वह हमेशा से चाहते थे कि हमारे परिवार से कोई खेलों में जाए। जब मैंने भाला फेंक खेलना शुरू किया तो उन्हें भी इसके बारे में अधिक जानकारी नहीं थी।उन्होंने हालांकि अपनी तरफ से हमेशा समर्थन किया। उन्होंने कहा कि मैं चाहे घर पर जीतकर आऊं या फिर हारकर, उन्होंने कभी मुझे बुरा महसूस नहीं होने दिया। उन्होंने कहा कि बस अपना काम करते रहो। मैं आज भी उनसे बात करने पर उतना ही प्रेरित होता हूं जितना खेल शुरू करने के समय पर होता था। वह कभी ऐसी बात नहीं बोलते कि मुझे महसूस हो कि मैं सही राह पर नहीं जा रहा या मुझे कुछ अलग करना चाहिए। मैं खुद को भाग्यशाली मानता हूं कि परिवार में ऐसे लोग मिले। चोपड़ा ने साथ ही खुलासा किया कि उनकी मां उन्हें प्यार से ‘नीरजू’कहकर बुलाती है।(PTI Inputs)

ऑयलीस्किनसेहैंपरेशानतोकरेंबसये5कामएकसप्ताहमेंपाएंखूबसूरतसाचेहराCommonwealth Games 2022 : नीरज चोपड़ा की तगड़ी तैयारी, मेडल के लिए जीतोड़ मेहनत******Highlightsकॉमनवेल्थ गेम्स 2022 इस साल 28 जुलाई से शुरू होने जा रहे हैं। राष्ट्रमंडल खेल इंग्लैंड के बर्मिंघम में होने हैं। इस बीच भारतीय खिलाड़ी भी इस बार पदक जीतने की उम्मीद लिए इंग्लैंड रवाना हो चुके हैं। भारत के खिलाड़ियों ने पिछले कुछ साल में जिस तरह का प्रदर्शन किया है, उससे उम्मीद है कि भारत के हाथ इस बार अच्छी खासी संख्या में मेडल आएंगे। भारत के जिन खिलाड़ियों से इस साल पदक जीतने की उम्मीद है, उसमें एक नाम नीरज चोपड़ा का भी है। नीरज चोपड़ा ने भारत के लिए ओलंपिक में पदक जीता था, इससे उम्मीदें और भी बढ़ गई हैं। इस बीच नीरज चोपड़ा लगातार अपनी तैयारी में जुटे हुए हैं और उन चीजों से दूरी बनाए हुए हैं, जिससे उनका खेल या फिर सेहत प्रभावित हो सकती है।भारत के स्टार भाला फेंक खिलाड़ी और ओलंपिक चैंपियन नीरज चोपड़ा अपनी फिटनेस और ट्रेनिंग को लेकर काफी प्रतिबद्ध रहत हैं। नीरज चोपड़ा को बकलावा (तुर्की की एक प्रकार की मिठाई) काफी पसंद है, लेकिन इसके बावजूद उन्होंने इससे दूरी बना रखी है। नीरज चोपड़ा ने कहा कि उन्हें बकलावा और मीठा पसंद है, लेकिन वह अपनी फिटनेस और ट्रेनिंग से कोई समझौता नहीं करते, इसलिए पसंद होने के बावजूद इन चीजों से दूरी बनाकर रखते हैं। टोक्यो ओलंपिक चैंपियन नीरज चोपड़ा ने आनलाइन प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि मुझे बकलावा और मीठा काफी पसंद है, लेकिन जब भी ये चीजें मेरे सामने आती हैं तो मैं मुंह फेर लेता हूं। ये चीजें सिर्फ कुछ देर का ही मजा देती हैं। खिलाड़ियों के लिए फिटनेस और ट्रेनिंग काफी मायने रखती है। या तो आप जीभ का मजा ले सकते हैं या फिर ट्रेनिंग का फायदा उठा सकते हैं। अगर मैं मीठा खाता हूं तो ट्रेनिंग के दौरान महसूस हो जाता है कि कुछ कमी पड़ रही है, इसलिए मैं इन चीजों से दूर रहता हूं।ट्रेनिंग और प्रतियोगिता के दौरान के खान-पान के बारे में नीरज चोपड़ा ने कहा कि इन दोनों ही समय के उनके खाने में अंतर होता है। चोपड़ा ने कहा कि ट्रेनिंग और सामान्य समय के खान-पान में काफी अंतर होता है। जब हम ट्रेनिंग कर रहे होते हैं तो प्रोटीन युक्त भोजन अधिक खाते हैं जबकि प्रतियोगिता के आसपास हम कार्बोहाइड्रेट युक्त भोजन पर अधिक ध्यान देते हैं, क्योंकि उस समय ऊर्जा की अधिक जरूरत होती है। प्रतियोगिता से पहले की रात क्या करते हैं, इस बारे में पूछे जाने पर चोपड़ा ने कहा कि मैं प्रतियोगिता से पहले गाने सुनना पसंद करता हूं और इस दौरान प्रतियोगिता के बारे में सोचता हूं। मैं भाला फेंक से जुड़े वीडियो भी देखना पसंद करता हूं, इससे मुझे एकाग्रता बनाए रखने में मदद मिलती है। अपने पसंदीदा खाने के अलावा ट्रेनिंग के कारण चोपड़ा कई बार रिश्तेदारों और मित्रों के साथ त्योहार या फिर विवाह समारोह का हिस्सा नहीं बन पाते, लेकिन उन्हें इसका बिलकुल भी मलाल नहीं है। उन्होंने कहा कि ट्रेनिंग और प्रतियोगिता के दौरान कई बार हम परिवार और मित्रों के साथ त्योहार नहीं मना पाते या विवाह समारोह में हिस्सा नहीं ले पाते लेकिन मुझे इन सब चीजों का बिलकुल भी मलाल नहीं है। मैंने कभी महसूस नहीं किया कि मुझे कुछ त्यागना पड़ रहा है। सच कहूं तो मैं इस बारे में कभी सोचता ही नहींनीरज चोपड़ा बचपन में वॉलीबॉल, कबड्डी और क्रिकेट जैसे खेल खेलते थे, लेकिन उन्होंने कभी भाला फेंक अलावा किसी अन्य खेल में करियर बनाने के बारे में नहीं सोचा। ओलंपिक चैंपियन चोपड़ा ने कहा कि जब मैं स्कूल में पढ़ता था तो मजे के लिए वॉलीबॉल खेलता था। मैं कबड्डी भी खेला हूं और सभी की तरह मैंने क्रिकेट भी खेला है। पेशेवर तौर पर हालांकि मैंने भाला फेंक के अलावा कोई अन्य खेल नहीं खेला। जब मैं स्टेडियम गया तो मुझे भाला फेंक ही पसंद आया। चोपड़ा ने साथ ही कहा कि वह अपेक्षाओं का दबाव महसूस नहीं करते और सिर्फ अपने खेल पर ध्यान देते हैं। उन्होंने कहा कि स्टेडियम में हजारों लोग आपकी हौसलाअफजाई करते हैं और तालियां बजाकर आपका मनोबल बढ़ाते हैं। लेकिन मैं जब भाला लेकर खड़ा होता हूं तो मेरे ऊपर इन चीजों का असर नहीं पड़ता। मेरा ध्यान सिर्फ अपने लक्ष्य पर होता है। यही मेरी मानसिकता रहती है। लोग क्या कर रहे हैं इससे मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता।नीरज चोपड़ा ने कहा कि वह ट्रेनिंग के इतर या रविवार को छुट्टी वाले दिन बास्केटबॉल, वॉलीबॉल और टेबल टेनिस जैसे खेल खेलना पसंद करते हैं। उन्होंने कहा कि रिलेक्स करने के लिए छुट्टी वाले दिन या रविवार को मैं बास्केटबॉल, टेबल टेनिस और वॉलीबॉल खेलना पसंद करता हूं। इससे मानसिक रूप से आराम मिलता है और समय का भी पता नहीं चलता। कोविड महामारी के कारण जब सब कुछ बंद था तो इससे काफी मदद मिली। मुझे फोन पर अधिक समय बिताना या अधिक टीवी देखना पसंद नहीं है। मैं इसकी जगह मैदान पर उतरने को प्राथमिकता देता हूं, क्योंकि इससे आपके कौशल में सुधार होता है। चोपड़ा ने कहा कि उनके चाचा ने हमेशा से ही उनका काफी समर्थन किया। हमारा परिवार संयुक्त परिवार है और मेरे सबसे छोटे चाचा ने हमेशा मेरा काफी समर्थन किया। उनका खेलों के प्रति काफी जुनून रहा है। वह हमेशा से चाहते थे कि हमारे परिवार से कोई खेलों में जाए। जब मैंने भाला फेंक खेलना शुरू किया तो उन्हें भी इसके बारे में अधिक जानकारी नहीं थी।उन्होंने हालांकि अपनी तरफ से हमेशा समर्थन किया। उन्होंने कहा कि मैं चाहे घर पर जीतकर आऊं या फिर हारकर, उन्होंने कभी मुझे बुरा महसूस नहीं होने दिया। उन्होंने कहा कि बस अपना काम करते रहो। मैं आज भी उनसे बात करने पर उतना ही प्रेरित होता हूं जितना खेल शुरू करने के समय पर होता था। वह कभी ऐसी बात नहीं बोलते कि मुझे महसूस हो कि मैं सही राह पर नहीं जा रहा या मुझे कुछ अलग करना चाहिए। मैं खुद को भाग्यशाली मानता हूं कि परिवार में ऐसे लोग मिले। चोपड़ा ने साथ ही खुलासा किया कि उनकी मां उन्हें प्यार से ‘नीरजू’कहकर बुलाती है।(PTI Inputs)

ऑयलीस्किनसेहैंपरेशानतोकरेंबसये5कामएकसप्ताहमेंपाएंखूबसूरतसाचेहराHockey Men's World Cup 2023: भारत को पुल डी में मिली जगह, इंग्लैंड-वेल्स और स्पेन से होंगे मुकाबले******भारत में 2023 में आयोजित होने वाले एफआईएच पुरुष हॉकी वर्ल्ड कप के लिए ड्रॉ पूरा हो चुका है। ओडिशा में होने वाले इस वर्ल्ड टूर्नामेंट में भारत को पुल डी में इंग्लैंड, स्पेन और वेल्स के साथ रखा गया है।विश्व रैंकिंग में पांचवें नंबर पर काबिज भारतीय टीम अपने ग्रुप में सबसे अच्छी रैंकिंग वाली टीम है। रैंकिंग में मजबूत टीम होने के बावजूद उसका क्वॉर्टरफाइनल में पहुंचना आसान नहीं होगा। भारत को इस ग्रुप में कई टीमों से चुनौतियां मिल सकती हैं। लेकिन टीम इंडिया को यहां घरेलू मैदान होने का फायदा भी मिलेगा। भारत को मुख्य रूप से इंग्लैंड की टीम से सावधान होगा क्योंकि उसका प्रदर्शन भारत के खिलाफ शानदार रहा है।टूर्नामेंट में ग्रुप स्टेज की विजेता टीम क्वॉर्टरफाइनल में पहुंचेगी। जबकि ग्रुप की दूसरे और तीसरे नंबर की टीम को आगे बढ़ने के लिए क्रॉसओवर मुकाबले खेलने होंगे। ग्रुप ए में कॉमनवेल्थ गेम्स विजेता ऑस्ट्रेलिया को अर्जेंटिना, फ्रांस और चिली से भिड़ना होगा। जबकि पुल बी में गत विजेता बेल्जियम, एशियाई चैंपियन दक्षिण कोरिया और चौथे रैंक की जर्मनी और जापान के बीच मुकाबले होंगे। वहीं ग्रुप सी में न्यूजीलैंड, मलेशिया और चिली को जगह मिली है। पुरुष हॉकी वर्ल्ड कप का आयोजन भुवनेश्वर के कलिंगा स्टेडियम में 2023 में 13 से 29 जनवरी तक होगा। हॉकी वर्ल्ड कप लगातार दूसरी और कुल चौथी बार भारत में आयोजित होगा।ऑयलीस्किनसेहैंपरेशानतोकरेंबसये5कामएकसप्ताहमेंपाएंखूबसूरतसाचेहराWorld Menstrual Hygiene Day 2021: पीरियड्स के दिनों में बचना चाहती हैं इंफेक्शन से तो ध्यान रखें ये बातें******पूरी दुनिया में 28 मई को विश्व मासिक धर्म स्वच्छता दिवस मनाया जाता है। इसे मनाने का मुख्य कारण है महिलाओं को पीरियड्स के समय सफाई के लिए जागरूक करना। इसकी शुरूआत साल 2014 में जर्मन एनजीओ 'वॉश यूनाइटेड' ने की थी। आमतौर पर महिलाओं के मासिक धर्म 28 दिनों के भीतर आते हैं और इसका पीरियड पांच दिनों का होता है। इसी कारण इस खास दिवस को मनाने के लिए साल के पांचवें महीने मई की 28 तारीख चुनी गई।आज के समय में भी को लेकर इतनी जागरूकता होने के बावजूद लड़कियां इस पर खुलकर बाद करने पर संकोच करती हैं। ये ऐसे दिन होते है। जब एक लड़की शारीरिक के साथ-साथ मानसिक समस्या से भी गुजरती हैं। ऐसे में साफ सफाई का पूरा ध्यान रखना चाहिए। जिससे कि इंफेक्शन के साथ-साथ उसकी इनफर्टिलिटी से संबंधी कोई समस्या न हो।अगर आपने महावारी के समय अपनी हाइजीन का ध्यान नहीं रखा तो आपको इंफेक्शन के साथ-साथ बुखार, अनियमित पीरियड्स, ज्यादा खून आने की समस्या के साथ-साथ गर्भधारण करने में दिक्कत हो सकती हैं।

ऑयली स्किन से हैं परेशान तो करें बस ये 5 काम, एक सप्ताह में पाएं खूबसूरत सा चेहरा

ऑयलीस्किनसेहैंपरेशानतोकरेंबसये5कामएकसप्ताहमेंपाएंखूबसूरतसाचेहराFree Electricity: मुफ्त बिजली के 'लॉलीपॉप' का असर खत्म? केजरीवाल सरकार के ऐलान के बाद उठे सवाल******Highlights दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को कहा कि दिल्ली सरकार एक अक्टूबर से उन्हीं उपभोक्ताओं को बिजली सब्सिडी (Electricity Subsidy Delhi) देगी, जिन्होंने इसका विकल्प चुना होगा। दिल्ली के उपभोक्ताओं को वर्तमान में 200 यूनिट तक कोई बिल नहीं भरना होता है, जबकि प्रति माह 201 से 400 यूनिट बिजली की खपत पर 800 रुपये की सब्सिडी मिलती है। मुफ्त बिजली के वादे के साथ दिल्ली की सत्ता पर काबिज होने के बाद आम आदमी पार्टी ने पंजाब समेत अन्य राज्यों में भी इसे एक अहम मुद्दा बनाया था।आम आदमी पार्टी ने पंजाब विधानसभा चुनावों में बड़ी जीत दर्ज की थी, जबकि अन्य राज्यों में कुछ खास असर छोड़ पाने में नाकाम रही थी। अगले कुछ महीनों में हिमाचल प्रदेश और गुजरात में भी विधानसभा चुनाव होने हैं, ऐसे में दिल्ली में सब्सिडी को लेकर शर्त को इस नजरिए से भी देखा जा रहा है कि फ्री बिजली (Free Electricity) का लॉलीपॉप अब लोगों के बीच असर खोता जा रहा है। केजरीवाल ने कहा, ‘दिल्ली सरकार अब लोगों से पूछेगी कि क्या वे बिजली पर सब्सिडी का लाभ उठाना चाहते हैं। एक अक्टूबर से केवल उन उपभोक्ताओं को सब्सिडी प्रदान की जाएगी जो इस विकल्प को चुनते हैं।’पंजाब विधानसभा चुनावों के दौरान आम आदमी पार्टी ने फ्री बिजली का वादा जरूर किया था, लेकिन यह बात पार्टी नेतृत्व भी जानता है कि सिर्फ इसी एक मुद्दे के भरोसे पार्टी सत्ता में नहीं आई थी। वहीं, उत्तर प्रदेश समेत अन्य राज्यों में भी विभिन्न दलों ने फ्री बिजली देने की बात कही थी, लेकिन मतदाताओं ने इन वादों को गंभीरता से नहीं लिया था। ऐसे में एक आम समझ यह बन रही है कि फ्री बिजली का लॉलीपॉप अपनी मिठास खोता जा रहा है और सरकार से लोगों की अपेक्षाएं इससे कहीं ज्यादा हैं। यही वजह है कि बीजेपी बार-बार फ्री बिजली के वादे को एक ‘जाल’ बताते हुए अन्य मुद्दों को प्रमुखता से रखती है और वह काफी सफल भी हुई है।ऑयलीस्किनसेहैंपरेशानतोकरेंबसये5कामएकसप्ताहमेंपाएंखूबसूरतसाचेहरा15 दिसंबर राशिफल: वृष राशि वालों का बड़ा काम होगा पूरा, जानिए बाकी राशियों का हाल******आज पौष कृष्ण पक्ष की उदया तिथि तृतीया और रविवार का दिन है। तृतीया तिथि आज7 बजकर 18 मिनट तक ही रहेगी। उसके बाद चतुर्थी तिथि शुरु हो जायेगी। लिहाज़ा आज संकष्टी श्री गणेश चतुर्थी का व्रत किया जायेगा। भगवान गणेश बुद्धि,समृद्धि और सौभाग्य को देने वाले हैं। इनकी उपासना शीघ्र फलदायी मानी गई है। साथ ही आज शाम 5 बजकर 59 मिनट पर शुक्राचार्य मकर राशि में प्रवेश करेंगे और 8 जनवरी 2020 की सुबह 6 बजकर 35 मिनट तक यही रहेंगे। शुक्राचार्य के मकर राशि में प्रवेश से अलग-अलग राशियों पर अलग-अलग प्रभाव पड़ेगा। जानें आचार्य इंदु प्रकाश सेकैसा रहेगा आपका दिन।आज आपका दिन बढ़िया रहेगा। आप जिस भी काम को करना चाहेंगे, वो काम बड़े आराम से पूरा हो सकता है। आपको बस थोड़ा संयम रखने की जरूरत है। आपको अपनी मान-प्रतिष्ठा बनाये रखने के लिये समाज के कार्यों में सहयोग देना चाहिए। आप किसी दोस्त की बर्थडे पार्टी में जा सकते हैं। आप किसी काम के लिये योजना बना सकते हैं। आपको दूसरों के सामने अपनी बात खुलकर रखनी चाहिए। इससे चीज़ें स्पष्ट रहेंगी। संतान की ओर से आपको सुख मिलता रहेगा। लाल रंग के फल या फूल सूर्यदेव को अर्पित करके गरीबों में बाट दें, आपको किस्मत का सहयोग मिलेगा।आज आपका दिन फायदेमंद रहेगा। कोई बड़ा काम संतान की मदद से पूरा हो जायेगा। माता-पिता का सहयोग भी बना रहेगा। शाम को माता-पिता के साथ आप किसी धार्मिक स्थल पर जा सकते हैं। किसी अपने से आपको कोई बड़ी खुशखबरी मिल सकती है। कोर्ट-कचहरी के मामले में आपको किसी अनुभवी व्यक्ति से ही सलाह लेनी चाहिए। इस राशि के छात्रों का आज पढ़ाई के प्रति रूझान बना रहेगा। आपके पास कुछ नयी जिम्मेदारियां आ सकती है, जिन्हें आप सफलतापूर्वक निभायेंगे। आपका स्वास्थ्य भी अच्छा रहेगा। सरोवर या नदी के किनारे जाकर मछलियों को आटे की गोलियां खिलाएं, ऐसा करने से आर्थिक समस्याएं खत्म होंगी।आज आपका दिन सामान्य रहेगा। आपके काम बनते-बनते रूक सकते हैं। कारोबार में उतार-चढ़ाव की स्थिति बन सकती है। आपको कोई भी कार्य करने से पहले अपने से बड़ों की राय जरूर लेनी चाहिए। इससे आपको लाभ होगा। किसी खास व्यक्ति से अचानक मुलाकात आपके करियर की दिशा को बदल सकती है, लेकिन आपको जिंदगी का कोई भी फैसला बड़ा ही सोच-समझकर लेना चाहिए। चंदन का तिलक लगायें, लोगों में आपका मनोबल उचा रहेगा।आज आपका दिन सामान्य रहेगा। किसी काम में भागदौड़ थोड़ी अधिक हो सकती है। बच्चों के स्कूल-कॉलेज से जुड़े कुछ कागज बनवाने पड़ सकते हैं। आपको किसी से मदद भी मांगनी पड़ सकती है। परिवार के किसी सदस्य से आपकी थोड़ी अनबन हो सकती है। आप अपने खर्चों को लेकर सोच-विचार में डूबे रह सकते हैं। आपको आस-पास हर चीज़ पर नज़र रखने की जरूरत है। आज कई लोगों को आपकी बात समझने में परेशानी हो सकती है। सुबह सुर्यदेव को जल अर्पित करें, आपकी आमदनी में बढ़ोतरी होगी।आज आपका दिन उत्तम रहेगा। काम से निपट लेने के बाद आप रिलेक्स महसूस करेंगे। आपको किसी मामले में बड़ा निर्णय लेना पड़ सकता है। आप अपने दोस्तों के साथ बाहर जाकर कुछ ख़ुशी के पल बिता सकते हैं। कुछ जरूरी चीजें आपको फायदे दिला सकती हैं। इस राशि के कारोबारियों को किसी से जरूरी मुलाकात करनी पड़ सकती है। धन के मामले में स्थिति ठीक रहेगी। कन्याओं को कुछ गिफ्ट करें, आपकी आपके निर्णय फायदेमंद रहेंगे।आज आपका दिन शानदार रहेगा। आपके सारे काम मन-मुताबिक पूरे होंगे। आप बच्चों के साथ ख़ुशी के पल बितायेंगे। पारिवारिक रिश्ते मजबूत होंगे। इस राशि के जो छात्र इंजीनियरिंग कर रहे हैं, उनके लिए आज का दिन शुभ है। आपको मित्रों का भरपूर सहयोग मिलेगा। आपको किसी अच्छी कम्पनी से जॉब अपॉचुनिटी भी मिल सकती है। आपके वैवाहिक जीवन में समरसता आयेगी। ऑफिस में अधिकारियों का सहयोग प्राप्त होगा। सुर्य देव के मंत्र ॐ सूर्याय नम: का 108 बार जाप करें, धन धान्य में वृद्धि होगी।आज आपका दिन ठीक-ठाक रहेगा। किसी पुरानी बात को लेकर आप थोड़े परेशान हो सकते हैं, लेकिन शाम तक सब ठीक हो जायेगा। घर पर अचानक से कोई मित्र आ सकता है। आप उसके साथ घर पर लंच का आनन्द ले सकते हैं। आप किसी टूर पर जाने का प्लान भी बना सकते हैं। ऑफिस में काम को जल्द से जल्द निपटाने की कोशिश कर सकते हैं। शादी-शुदा लोग अपने जीवन को खुशहाल बनाने में लगे रहेंगे। सुबह धरती माता को छूकर प्रणाम करें, पूरे दिन मन प्रसन्न रहेगा।आज आपका दिन कॉन्फिडेंस से भरा रहेगा। आपके कुछ नए दोस्त बन सकते हैं। आपका सामाजिक दायरा बहुत हद तक बढ़ जायेगा। आसपास के लोगों से आपको मदद मिल सकती है। आपको व्यवसाय के क्षेत्र में भी लाभ मिलने की पूरी उम्मीद है। दैनिक कार्यों में आपको पूर्ण रूप से सफलता मिलेगी। जीवनसाथी के साथ आपके संबंध मधुर बनेंगे। आप एक-दूसरे को समझने की कोशिश करेंगे। किसी काम को नए तरीके से करने की सोच सकते हैं। ॐ भास्कराय नम: मंत्र का 11 बार जाप करें, आपकी मेहनत रंग लायेगी।आज आपका दिन फेवरेबल रहेगा। आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत बनी रहेगी। आपके सामने कोई भी चुनौती टिक नहीं पायेगी। आपको किसी सेमिनार में बतौर अतिथि बुलाया जा सकता है। वहां लोग आपके व्यवहार से काफी प्रभावित होंगे। शाम को आप जीवनसाथी के साथ घूमने जा सकते हैं। नए लोगों से मुलाकात होने से आपको बड़े फायदे होंगे। परिवार में सबके साथ किसी खास मामले पर बातचीत हो सकती है। आपके सोचे हुए काम पूरे होंगे। ब्राह्मण को भोजन करायें, कार्यक्षेत्र में सिनियरस का सहयोग मिलता रहेगा।आज आपका दिन अच्छा रहेगा। ऑफिस के काम में आपके सामने कई चुनौतियां आ सकती हैं। आप अपने काम में किसी मित्र का सहयोग ले सकते हैं। धैर्य से निर्णय लेने पर सफलता के नए आसार खुल सकते हैं। जीवनसाथी का सहयोग आपको फायदा दिला सकता है। आपको अपने भविष्य के बारे में थोड़ा विचार करने की जरूरत है। आपके घर पर अचानक से कोई रिश्तेदार आ सकते हैं। आपको उनसे बातें करके अच्छा लगेगा। माता पिता के पैर छूकर आशीर्वाद लें, पूरे दिन लोगों से सहयोग मिलता रहेगा।आज आपका दिन खुशियों से भरा रहेगा। आपको कोई बड़ी खुशखबरी मिलेगी, जिससे परिवार में सबके चेहरे खिले रहेंगे। लोग आगे से चलकर आपसे बात करना चाहेंगे। किसी प्रिय मित्र से आपकी मुलाकात हो सकती है। आपको नए स्रोतों से धन की प्राप्ति हो सकती है। प्रेम-प्रसंग के प्रति आपका झुकाव हो सकता है। सेहत के मामले में आप चुस्त- दुरुस्त बने रहेंगे। आपके दिमाग में अचानक से कोई ऐसा विचार आयेगा, जो आपकी प्रगति की राहें खोल देगा। जरुरतमंद को वस्त्र भेंट करें, आपके सारे काम आसानी से पूरे होगें।आज आपका दिन व्यस्तता से भरा रहेगा। माता-पिता अपने बच्चों के साथ कहीं आस-पास पिकनिक स्पॉट पर जा सकते हैं। आप किसी समारोह में जाने की प्लानिंग भी कर सकते हैं। ऑफिस में माहौल थोड़ा गंभीर रह सकता है। आपको अपने बॉस की बातों को ध्यान से सुनने के बाद ही अपनी कोई राय देनी चाहिए। आज आपको थोड़ा आलस्य भी महसूस हो सकता है। आपको अपना खान-पान हेल्दी रखना चाहिए। आज कुछ मामलों में आप थोड़े भावुक हो सकते हैं। चिड़ियों को दाना खिलाएं, पारिवारिक रिश्ते मजबूत होंगे।ऑयलीस्किनसेहैंपरेशानतोकरेंबसये5कामएकसप्ताहमेंपाएंखूबसूरतसाचेहराछपाक बॉक्स ऑफिस कलेक्शन: दीपिका पादुकोण की फिल्म की कमाई हुई धीमी, चौथे दिन कमाए इतने करोड़******एसिड अटैक सर्वाइवर पर आधारित की फिल्म की कमाई बॉक्स ऑफिस पर धीमी पड़ती जा रही है। फिल्म ने तीसरे दिन 7.35 करोड़ का बिजनेस किया था। अब चौथे दिन का बॉक्स ऑफिस कलेक्शन सामने आ गया है। चौथे दिन छपाक के बॉक्स ऑफिस कलेक्शन में काफी गिरावट आई है।बॉक्स ऑफिस इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक छपाक ने चौथे दिन लगभग 2-2.25 करोड़ का बिजनेस किया है। जिसके बाद फिल्म का टोटल बॉक्स ऑफिस कलेक्शन लगभग21 करोड़ हो जाएगा।छपाक एसिड अटैक सर्वाइवर लक्ष्मी अग्रवाल की कहानी पर आधारित है। फिल्म में दीपिका पादुकोण एसिड अटैक पीड़िता मालती का किरदार निभाती नजर आई हैं। फिल्म में दीपिका के साथ विक्रांत मेसी अहम भूमिका निभाते नजर आए हैं।छपाक को मेघना गुलजार ने डायरेक्ट किया है। छपाक के साथ अजय देवगन की फिल्म तानाजी: द अनसंग वॉरियर क्लैश हुई है। तानाजी का छपाक के बॉक्स ऑफिस कलेक्शन पर काफी असर पड़ा है। तानाजी बॉक्स ऑफिस पर छपाक से तीगुनी-चौगुनी कमाई कर रही है।

ऑयली स्किन से हैं परेशान तो करें बस ये 5 काम, एक सप्ताह में पाएं खूबसूरत सा चेहरा

ऑयलीस्किनसेहैंपरेशानतोकरेंबसये5कामएकसप्ताहमेंपाएंखूबसूरतसाचेहराआडवाणी को टिकट नहीं देकर भाजपा ने उनका अपमान किया: ममता बनर्जी******पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी को भाजपा के स्तंभों में से एक बताते हुए कहा है कि प्रत्याशियों की सूची में उन्हें स्थान नहीं देना दिग्गज नेता का एक अपमान है। तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी ने कहा कि राजनीतिक दलों को अपने वरिष्ठ नेताओं की अनदेखी नहीं करनी चाहिए। उन्होंने मंगलवार को राज्य सचिवालय में संवाददाताओं से कहा, ‘‘अटल बिहारी वाजपेयी जी, आडवाणी जी भाजपा के स्तंभ थे। आडवाणी जी एक वरिष्ठ व्यक्ति हैं। और अब उन्हें कैसे दरकिनार किया जा सकता है। निश्चित रूप से यह आडवाणी जी का अपमान है।’’भाजपा ने गुजरात में गांधीनगर लोकसभा सीट से पार्टी अध्यक्ष अमित शाह को मैदान में उतारा है और आडवाणी को टिकट नहीं दिया है। 91 वर्षीय आडवाणी इस सीट से छह बार लोकसभा चुनाव जीत चुके हैं। ममता ने कहा ‘‘मुझे उनके लिए :आडवाणी के लिए: बहुत दुख हो रहा है। यह उनका आखिरी मौका हो सकता है। वास्तव में आडवाणी जी उनके परामर्शदाता हैं। लेकिन जब वहां जरूरत नहीं है तो उनको (वरिष्ठ नेताओं को) भुला दिया गया। लेकिन चीज जितनी पुरानी होती है, उतनी अच्छी होती है। यह मेरा निजी तौर पर मानना है।उन्होंने कहा कि उन्हें इस बात का भी दुख है कि भाजपा ने पूर्व केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार की पत्नी को बेंगलुरू साउथ लोकसभा सीट से टिकट नहीं दिया। चुनाव से ठीक पहले प्रधानमंत्री की बायोपिक ‘‘पीएम नरेंद्र मोदी’’ की रिलीज के बारे में ममता ने कहा कि अगर कोई ऐसी फिल्म बनाना चाहे तो बना सकता है लेकिन चुनाव से पहले अगर इसे रिलीज किया जाए ‘‘तो इसका उद्देश्य बेहद साफ है।’’ऑयलीस्किनसेहैंपरेशानतोकरेंबसये5कामएकसप्ताहमेंपाएंखूबसूरतसाचेहराभारी डिस्‍काउंट पर घर खरीदने का मौका, Tata Housing की flash sale 12 मार्च से होगी शुरू******Tata Housing to offer 150 units at discount; flash sale starts from Mar 12रीयल्‍टी फर्म टाटा हाउसिंग (Tata Housing) ने बुधवार को कहा कि वह देशभर में अपने 15 प्रोजेक्‍ट्स में 150 घरों को फ्लैश सेल के दौरान डिस्‍काउंट के साथ बिक्री के लिए पेश करेगी। टाटा हाउसिंग की यह फ्लैश सेल 12 मार्च से शुरू होगी। कंपनी ने अपने एक बयान में कहा कि इस सेल में ग्राहक 2 लाख रुपये से लेकर 21 लाख रुपये तक की बचत कर सकते हैं। टाटा हाउसिंग की फाइनल रस फ्लैश सेल पूरे देश में 15 प्रोजेक्‍ट्स के लिए मान्‍य होगी। कंपनी ने कहा कि यह डिस्‍काउंट ऑफर 15 प्रोजेक्‍ट में 150 यूनिट की सीमित इनवेंट्री के लिए है। यहां मकानों की कीमत 20 लाख रुपये से लेकर 6 करोड़ रुपये तक है। ने कहा कि फ्लैश सेल में घर खरीदार 2 लाख रुपये से लेकर 21 लाख रुपये तक की बड़ी बचत कर सकेंगे।कंपनी ने कहा कि उसने फ्लैश सेल का आयोजन वित्‍त वर्ष के समापन अवसर पर किया है। इसके अलावा महाराष्‍ट्र और कर्नाटक में स्‍टाम्‍प ड्यूटी में कटौती का लाभ भी ग्राहकों को दिया जाएगा। टाटा हाउसिंग डेवलपमेंट कंपनी टाटा संस की सहयोगी इकाई है। इंडिया रेटिंग्‍स एंड रिसर्च के मुताबिक कोरोनावायरस महामारी के कारण वित्‍त वर्ष 2020-21 में संख्‍या के मामले में घरों की बिक्री में 34 प्रतिशत तक की गिरावट आई है। हालांकि रिपोर्ट में कहा गया है कि कमजोर आधार से 2021-22 में मांग में सुधार आने की संभावना है। एजेंसी ने अनुमान जताया है कि अगले वित्‍त वर्ष में रेजिडेंशियल रीयल एस्‍टेट सेक्‍टर में के-शेप्‍ड रिकवरी आएगी।एजेंसी ने अपने एक बयान में कहा कि वित्‍त वर्ष 2020-21 के दौरान फ्लोर स्‍पेस बिक्री में सालाना आधार पर 34 प्रतिशत की गिरावट रही, जबकि वित्‍त वर्ष 2021-22 में ओवरऑल फ्लोर स्‍पेस की बिक्री में सालाना आधार पर 30 प्रतिशत की वृद्धि आ सकती है। वित्‍त वर्ष 2019-20 में कुल रेजिडेंशियल फ्लोर स्‍पेस की बिक्री 32.6 करोड़ वर्ग फुट थी। इंडिया रेटिंग्‍स ने कहा कि चालू वित्‍त वर्ष के पहले नौ माह में फ्लोर स्‍पेस की बिक्री 41 प्रतिशत घटी है और संपूर्ण 2020-21 में फ्लोर स्‍पेस की बिक्री में 34 प्रतिशत तक की गिरावट आने की संभावना है।

ऑयली स्किन से हैं परेशान तो करें बस ये 5 काम, एक सप्ताह में पाएं खूबसूरत सा चेहरा

ऑयलीस्किनसेहैंपरेशानतोकरेंबसये5कामएकसप्ताहमेंपाएंखूबसूरतसाचेहराMadhya Pradesh News: बुलडोजर पर सवार होकर शादी रचाने पहुंचा सिविल इंजीनियर, दूल्हे ने बताई वजह******Highlights उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश सहित देश के कुछ राज्यों में अवैध मकानों और प्रतिष्ठानों पर बुलडोजर चलाए जाने के बीच मध्य प्रदेश के बैतूल जिले का एक सिविल इंजीनियर अपनी शादी को यादगार बनाने के लिए बारात में परंपारिक घोड़ी, बग्घी या कार के बजाय में बैठकर दुल्हन को लेने मंडप पहुंचा। यह घटना मध्य प्रदेश के आदिवासी बहुल जिले के भैंसदेही विकासखंड के अंतर्गत आने वाले झल्लार गांव में मंगलवार को हुई और दूल्हे के साथ उसके परिवार की दो महिलाएं भी बुलडोजर में सवार थीं। इस अद्भुत नजारे को देखकर हर कोई हैरत में पड़ गया और देखने वालों ने अपने मोबाइल में इस नजारे को कैद कर लिया।बारात में फूलों से सजे बुलडोजर में बैठकर शादी रचाने के लिए मंडप पहुंचने वाले अंकुश जायसवाल नाम के इस दूल्हे की शादी पूरे इलाके में चर्चा का विषय बनी हुई है। इस दौरान बैंड-बाजे एवं डीजे की धुन पर उसके परिजन एवं रिश्तेदार थिरकते नजर भी आए। अंकुर ने बुलडोज़र पर बैठकर डांस भी किया और जमकर मस्ती करते दिखे। व्हाट्सएप, फेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम पर बड़ी संख्या में उपयोगकर्ता अंकुश की बारात से जुड़ी तस्वीरें और वीडियो शेयर कर रहे हैं।झल्लार गांव के रहने वाले दूल्हे ने कहा, ‘‘मैं पेशे से सिविल इंजीनियर हूं और बुलडोजर सहित निर्माण कार्यों से जुड़ी अन्य मशीनों के साथ दिनभर काम करता रहता हूं। इसलिए मेरे मन में विचार आया कि मैं अपने पेशे से जुड़े बुलडोजर पर ही बारात निकालूं।’’ अंकुश ने आगे कहा, ''मेरा सपना था कि मेरी बारात बुलडोजर पर निकले इसको लेकर मैंने अपने परिजनों से बात की और वे तैयार हो गए। इसके चलते मैंने अपनी ख्वाहिश पूरी की। बुलडोजर पर बारात निकलने से मेरी शादी यादगार हो गई।''अंकुश ने बताया कि झल्लार गांव से बारात निकलने के बाद उन्होंने केरपानी गांव स्थित प्रसिद्ध श्री हनुमान मंदिर में रात्रि विश्राम किया और फिर बुधवार को उनका विवाह केसर बाग में धूमधाम से संपन्न हुआ।

ऑयलीस्किनसेहैंपरेशानतोकरेंबसये5कामएकसप्ताहमेंपाएंखूबसूरतसाचेहरा2019 में सूचीबद्ध होने वाली अधिकांश कंपनियों के शेयर हैं फायदे में, निवेशकों को मिला 21% तक का रिटर्न******good returnशेयर बाजार में इस साल सूचीबद्ध होने वाली ज्यादातर कंपनियां अपने इश्यू मूल्य से काफी ऊपर कारोबार कर रही हैं। इन कंपनियों ने अपने निवेशकों को इस साल अब तक 21 प्रतिशत तक कमाई के अवसर उपलब्ध कराए हैं। वर्ष 2019 की शुरुआत के बाद से अब तक कम से कम छह कंपनियां शेयर बाजारों में सूचीबद्ध हुई हैं और इनमें से पांच कंपनियों के शेयर मूल्य उनके इश्यू मूल्य से ऊपर चल रहे हैं। इस साल सूचीबद्ध होने वाली कंपनियों के प्रदर्शन का विश्लेषण करने से यह निष्कर्ष सामने आया है।इस साल शेयर बाजार में सूचीबद्ध होने वाली कंपनियों में रेल विकास निगम लिमिटेड का (आईपीओ) काफी सफल रहा। इसके शेयर में सूचीबद्ध होने के बाद निर्गम मूल्य के मुकाबले 21.31 प्रतिशत तक उछाल देखा गया। तार और केबल विनिर्माता कंपनी पॉलिकैब इंडिया का इश्यू भी अच्छा रहा। सूचीबद्ध होने के बाद इसका शेयर मूल्य निर्गम मूल्य के मुकाबले करीब 20 प्रतिशत चढ़ गया।शॉलेट होटल्स का शेयर भी 14.64 प्रतिशत चढ़ गया। एक्सेलम्मॉक डिजाइन एंड टेक लिमिटेड का शेयर 7.57 प्रतिशत ऊपर चढ़ गया। दोनों कंपनियों इस साल फरवरी में बाजार में निर्गम जारी किए हैं।मेट्रोपोलिस हेल्थकेयर का शेयर भी सूचीबद्ध होने के बाद 6.82 प्रतिशत बढ़ा है। कंपनी 15 अप्रैल को बाजार में सूचीबद्ध हुई। केवल एमएसटीसी ही ऐसी कंपनी रही जिसका शेयर 11.66 प्रतिशत गिरा है।इस बीच नियोजेन केमिकल्स का निर्गम भी बाजार में उतरा गया है, हालांकि यह शेयर अभी बाजार में सूचीबद्ध नहीं हुआ है।ऑयलीस्किनसेहैंपरेशानतोकरेंबसये5कामएकसप्ताहमेंपाएंखूबसूरतसाचेहराकैग का खुलासा रेलवे के 400 से ज्‍यादा प्रोजेक्‍ट चल रहे हैं देरी से, लागत एक लाख करोड़ रुपए बढ़ी****** नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (कैग) ने कहा है कि रेलवे की 400 से अधिक परियोजनाओं के क्रियान्वयन में देरी से लागत में 1.07 लाख करोड़ रुपए की वृद्धि हुई है। संसद में पेश कैग की ताजा रिपोर्ट में कहा गया है कि रेल प्रशासन के रिकॉर्ड में परियोजनाओं को पूरा होने की निर्धारित तिथि या तो तय ही नहीं है या उसका जिक्र नहीं है। जिन परियोजना के पूरा होने के लिए समय निर्धारित किया गया है, वहां प्रगति बहुत धीमी है।इसमें आगे कहा गया है, अनुमानों को तय करने, मंजूरी में देरी और जमीन अधिग्रहण में विलंब से परियोजनाओं में देरी हुई है। परियोजनाओं के पूरा होने में देरी से लागत 1.07 लाख करोड़ रुपए बढ़ गई। इस तरह मौजूदा 442 परियोजनाओं पर कुल 1.86 लाख करोड़ रुपए के अरिक्त खर्च का अनुमान है। कैग ने कहा कि प्राथमिक आधार पर परियोजनाओं के निर्धारण में कमी पाई गई और कोष का पूरी तरह उपयोग नहीं किए जाने के कई मामले सामने आए हैं, जिससे परियोजनाओं की प्रगति पर विपरीत प्रभाव पड़ा है। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि कोष का आबंटन जरूरत के अनुपात में नहीं हुआ है।कैग ने कहा कि 2009-14 के दौरान कोष की दिक्कतों को नजरअंदाज करते हुए पहले से स्वीकृत परियोजनाओं में 202 परियोजनाएं जोड़ दी गईं और इस कारण इस अवधि में केवल 67 परियोजनाएं पूरी हो पाईं। रिपोर्ट के अनुसार 75 परियोजनाओं पर 15 साल से अधिक समय से काम हो रहा है और उनमें से तीन परियोजनाएं 30 साल पुरानी हैं। वित्त मंत्रालय से बजटीय समर्थन के बावजूद राष्ट्रीय परियोजनाओं की प्रगति संतोषजनक नहीं है, जिससे समय और लागत बढ़ रही है।कैग ने कहा है कि राजधानी दिल्ली में 2010-14 के दौरान मध्यान्ह भोजन (मिडडे मील) के 89 फीसदी नमूने पोषण मानकों पर खरे नहीं उतरे हैं। मध्यान्ह भोजन योजना के क्रियान्वयन पर कैग की रिपोर्ट में कहा गया है कि इस बारे में एजेंसी द्वारा किए गए परीक्षण में ज्यादातर मिडडे मील के नमूने पोषण मानकों से कम पाए गए।कैग ने कहा कि कम से कम नौ राज्यों के मामलों में तय पोषण नहीं पाया गया।

ऑयलीस्किनसेहैंपरेशानतोकरेंबसये5कामएकसप्ताहमेंपाएंखूबसूरतसाचेहराकैग ने NDA सरकार में 11 कोयला खानों की नीलामी में प्रतिस्पर्धा प्रभावित होने की आशंका जताई****** नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (कैग) ने एनडीए सरकार के कार्यकाल में पिछले साल कोयला ब्लॉकों की ऑनलाइन नीलामी के पहले दो दौर में खामी निकाली है। उसका कहना है कि इनमें 11 ब्लॉकों के मामले में जिस तरह कंपनी समूहों ने अपनी संयुक्त उद्यम कंपनियों या समूह की अनुषंगियों के जरिए एक से अधिक बोलियां पेश की थीं उससे यह भरोसा नहीं होता कि इन दो दौर में प्रतिस्पर्धा का संभावित स्तर हासिल हो गया हो गया।इन दो चरणों में कुल 29 कोयला खदानों की सफल नीलामी हुई थी। कोयला खदानों की ऑनलाइन (ई) नीलामी पर कैग की संसद में पेश ताजा रपट में कहा गया है कि इन नीलामियों में 11 कोयला ब्लॉक की में कंपनी समूहों ने अपनी अनुषंगी कंपनियों या संयुक्त उद्यमों के जरिए एक से अधिक बोलियां लगाईं। ऐसे में उसकी राय है कि हो सकता है इससे प्रतिस्पर्धा बाधित हुई हो। रिपोर्ट में कहा गया है, ऑडिट में यह भरोसा नहीं जगा कि पहले दो चारों में 11 कोयला खदानों की नीलामी में प्रतिस्पर्धा का संभावित स्तर हासिल हो गया होगा। इसके अनुसार ऐसे परिदृश्य में जबकि मानक टेंडर दस्तावेज (एसटीडी) के तहत संयुक्त उद्यम की भागीदारी की अनुमति दी जाती है।ई नीलामी में भाग लेने वाली क्यूबी की संख्या सीमित की जाती है तो ऑडिट में यह कहीं आश्वासन नहीं मिलता कि पहले दो चरणों में नीलाम हुई उक्त 11 कोयला खदानों की बोली के दूसरे चरण में प्रतिस्पर्धा का संभातिव स्तर हासिल किया गया था। इसके अनुसार कोयला मंत्रालय ने नीलामी के तीसरे चरण में संयुक्त उद्यम भागीदारी संबंधी उपबंध में संशोधन किया था ताकि भागीदारी बढ़ाई जा सके। वहीं आधिकारिक सूत्रों ने इस रिपोर्ट पर प्रतिक्रिया में कहा कि केवल छह प्रतिशत क्यूबी ही संयुक्त उद्यम कंपनियां थी और सफल बोलीदाताओं में केवल एक ही संयुक्त उद्यम कंपनी थी जो कि इस बाद का स्पष्ट संकेत है कि उक्त प्रावधान से प्रतिस्पर्धा सीमित नहीं हुई। सूत्रों के अनुसार दिल्ली उच्च न्यायालय ने नीलामी के इस प्रावधान को सही ठहराया था।ऑयलीस्किनसेहैंपरेशानतोकरेंबसये5कामएकसप्ताहमेंपाएंखूबसूरतसाचेहरा'PFI बैन पर कोई टिप्पणी नहीं करेंगे', TMC की चुप्पी पर बीजेपी ने उठाए सवाल, कही ये बात******Highlights पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) को भारत में पांच साल के लिए बैन कर दिया गया है। इसे लेकर कई पार्टी के नेताओं की प्रतिक्रिया सामने आई। पीएआई को लेकर बोलते हुए आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने आरएसएस (RSS) पर जमकर हमला बोला। लालू यादव ने कहा कि पहले RSS पर बैन लगाया जाना चाहिए। वहीं, तृणमूल कांग्रेस (TMC) ने इस मामले पर टिप्पणी करने से परहेज किया।PFA बैन पर टीएमसी की ओर से टिप्पणी करने से परहेज करने पर भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने राष्ट्रीय सुरक्षा से संबंधित मुद्दों पर उसकी चुप्पी को लेकर सवाल उठाया। केंद्र सरकार ने बुधवार को पीएफआई और उसके कई सहयोगी संगठनों पर आईएसआईएस (ISIS) जैसे वैश्विक आतंकवादी समूहों के साथ संबंध होने का आरोप लगाते हुए गैरकानूनी गतिविधियां (निवारण) अधिनियम (यूएपीए) के तहत पांच साल का प्रतिबंध लगाने की घोषणा की।तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और सांसद सौगत रॉय ने कहा, "हम इस पर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहते। यह हमारा आधिकारिक रुख है कि हम इस पर कोई टिप्पणी नहीं करेंगे।" टीएमसी की चुप्पी पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए बीजेपी की पश्चिम बंगाल इकाई ने पूछा कि बंगाल की सत्ताधारी पार्टी हमेशा राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े मुद्दों पर चुप्पी साधे रखना क्यों पसंद करती है।बीजेपी की राज्य इकाई के प्रवक्ता समिक भट्टाचार्य ने कहा, "बीजेपी सरकार की आतंकवाद और राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दों पर कतई बर्दाश्त नहीं करने की नीति रही है, लेकिन जो बात हमें सबसे ज्यादा हैरान कर रही है वह यह है कि पश्चिम बंगाल में भी PFI की गतिविधियां होने के बावजूद राज्य की सरकार इस मामले पर चुप है। हालांकि, टीएमसी का राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े मुद्दों पर चुप्पी साधे रखने का रिकॉर्ड रहा है। उनके लिए वोट सबसे ज्यादा मायने रखते हैं।"गौरतलब है कि सरकर ने PFI के अलावा RIF, CFI, AIIC, NCHRO, नेशनल वीमेन फ्रंट, जूनियर फ्रंट, एम्पावर इंडिया फाउंडेशन और रिहैब फाउंडेशन, केरल जैसे सहयोगी संगठनों पर भी बैन लगाया गया है।

ऑयलीस्किनसेहैंपरेशानतोकरेंबसये5कामएकसप्ताहमेंपाएंखूबसूरतसाचेहराछत्तीसगढ़ में पहले चरण के मतदान के लिए अधिसूचना जारी, नामांकन प्रक्रिया भी शुरू****** के पहले चरण के मतदान के लिए छत्तीसगढ़ चुनाव आयोग ने अधिसूचना जारी कर दी है। अधिसूचना जारी होने के बाद छत्तीसगढ़ में 18 विधानसभा सीटों के लिए नामांकन पत्र भरने का प्रक्रिया शुरू हो गई है। अधिसूचना के मुताबिक नामांकन भरने की अंतिम तिथि 23 अक्तूबर है जबकि नामांकन पत्रों की जांच 24 अक्तूबर को होगी। 26 अक्तूबर तक अभ्यर्थी अपना नाम वापस ले सकते हैं और 12 नवंबर को मतदान होगा।छत्तीसगढ़ में पहले चरण के दौरान 18 सीटों के लिए मतदान होगा, अधिसूचना के मुताबिक 8 विधानसभा सीटों के लिए मतदान का समय सुबह 8 बजे से लेकर शाम को 5 बजे रखा गया है जबकि बाकी 10 सीटों के लिए मतदान का समय सुबह 7 बजे से लेकर दोपहर बाद 3 बजे तक निश्चित किया गया है।ऑयलीस्किनसेहैंपरेशानतोकरेंबसये5कामएकसप्ताहमेंपाएंखूबसूरतसाचेहरामुंबई पुलिस ने 1800 किलो गांजा जब्त किया, दो लोग गिरफ्तार****** मुंबई अपराध शाखा के स्वापक निरोधक प्रकोष्ठ (एएनसी) ने ओडिशा से तस्करी कर लाया गया 3.5 करोड़ रुपये मूल्य का 1,800 किलोग्राम गांजा बरामद कर दो लोगों को गिरफ्तार किया है। एक अधिकारी ने शनिवार को यह जानकारी देते हुए बताया कि एक गोपनीय सूचना पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने शुक्रवार शाम को उपनगरीय विक्रोली में ईस्टर्न एक्सप्रेस हाईवे पर एक फुट ओवर ब्रिज (एफओबी) पर एक ट्रक को रोका और उसमें उन्हें गांजा मिला।अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने इस सिलसिले में आकाश यादव (25) और दिनेश कुमार सरोज (26) को गिरफ्तार किया। उन्होंने बताया कि अंतरराज्यीय तस्करी गिरोह के सरगना की पहचान ओडिशा के गंजम जिले के रहने वाले लक्ष्मीकांत प्रधान के रूप में हुई है।संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) मिलिंद भारम्बे ने संवाददाताओं को बताया कि यह गिरोह नारियल आयात करने की आड़ में मुंबई से ट्रक किराए पर लेते थे, लेकिन वास्तव में गांजा की तस्करी करते थे।

1. यह साइट उद्योग के मानदंडों का पालन करती है, और कोई भी पुनर्मुद्रित पांडुलिपि स्पष्ट रूप से लेखक और स्रोत को इंगित करेगी; 2. इस साइट पर मूल लेखों के लिए, कृपया लेखक और लेख के स्रोत को पुनर्मुद्रण करते समय इंगित करना सुनिश्चित करें, और हमें जवाबदेह ठहराया जाएगा उन व्यवहारों के लिए जो मौलिकता का सम्मान नहीं करते हैं; 3. लेखक प्रस्तुतियाँ हमारे संपादकों द्वारा संशोधित या पूरक की जा सकती हैं।

संबंधित आलेख
  • Weather Report: दिल्ली-उत्तराखंड समेत कई राज्यों में चलेगी हीट वेव, बढ़ा रहेगा तापमान

    Weather Report: दिल्ली-उत्तराखंड समेत कई राज्यों में चलेगी हीट वेव, बढ़ा रहेगा तापमान

    2022-10-06 11:38

  • अगले साल लॉन्‍च होगी टाटा मोटर्स की नई SUV  हैरियर, JLR के साथ मिलकर बनाया गया है इसे

    अगले साल लॉन्‍च होगी टाटा मोटर्स की नई SUV हैरियर, JLR के साथ मिलकर बनाया गया है इसे

    2022-10-06 11:37

  • Coronavirus: भारत ने पाक से लगी सीमा के सभी जमीनी रास्तों को 16 मार्च की मध्य रात्रि से किया बंद

    Coronavirus: भारत ने पाक से लगी सीमा के सभी जमीनी रास्तों को 16 मार्च की मध्य रात्रि से किया बंद

    2022-10-06 11:24

  • coconut water: फायदा ही नहीं नुकसान भी पहुंचा सकता है नारियल पानी, जानिए कैसे

    coconut water: फायदा ही नहीं नुकसान भी पहुंचा सकता है नारियल पानी, जानिए कैसे

    2022-10-06 10:38

उपयोगकर्ता टिप्पणियाँ
गर्म खबर